Monk stories in hindi, रेत का घर साधू की हिंदी कहानी

Monk stories in hindi | Hindi story

Monk stories in hindi, रेत का घर साधू की हिंदी कहानी, यह तुम क्या कर रहे हो वह लड़का साधु को देखने लगता है उसके बाद वह कहता है की में रेत में घर बना रहा हु यह बात सुनकर वह साधु उसके पास बैठ गया था उसके बाद साधु ने पूछा की तुम यह घर किसके लिए बना रहे हो वह लड़का कहता है की यह मेरा घर है में इसमें रह सकता हु इसे में बहुत अच्छा बना रहा हु साधु जी को उसकी बाते पर हंसी आ रही थी उसके बाद साधु जी ने पूछा की क्या तुम्हारा घर अच्छा नहीं है

Monk stories in hindi : रेत का घर साधू की हिंदी कहानी  

Monk stories in hindi

Monk stories in hindi

वह लड़का कहता है की मेरा घर भी बहुत अच्छा है but कुछ दिनों से सब कुछ बदला गया है अब घर में कोई भी हंसी की बात नहीं होती है उस घर में तो अब झग़डे ही होते है वह मुझे पसंद नहीं है कोई भी मुझसे बात नहीं करता है माता पिता दोनों ही अब झगड़ा करते है साधु ने पूछा की वह ऐसा क्यों करते है वह लड़का नहीं जानता है की ऐसा क्यों हो रहा है but सच तो यह है की यह सब अच्छा नहीं है साधु बाबा कहते है की क्या तुम मुझे अपने घर ले जा सकते हो

 

वह लड़का कहता है की आप क्यों जाना चाहते है साधु बाबा कहते है की शायद में उन्हें समझा सकता हु की झगड़ा नहीं करना चाहिए यह सुनकर लड़का बहुत खुश हो जाता है वह उन्हें अपने घर ले जाता है दोनों ही घर पर लड़के का इंतज़ार कर रहे थे वह बहुत देर से घर से बाहर था जब वह लड़का आता है तो उसकी माता कहती है की बहुत देर से घर से बाहर है जबकि घर में होना चाहिए था एक बार फिर से इसी बात पर झगड़ा शुरू हो जाता है फिर साधु बाबा कहते है की आप क्या कर रहे है

 

वह दोनों साधु को देखते है और कहते है की आप कौन है और यहां पर क्या कर रहे है वह कहते है की आपके लड़के के साथ आया था उसने बताया था की आप दोनों अब उसकी बात नहीं सुनते है और झगड़े करते है यह सुनकर वह दोनों गुस्सा हो जाते है और कहते है की अब यह लड़का घर से बाहर भी सभी से यही कहता है यह पता नहीं ऐसा क्यों कर रहा है तभी साधु बाबा कहते है की ऐसा नहीं है आप समझ नहीं रहे है में क्या कहना चाहता हु

 

अगर आप दोनों ऐसे ही घर में झगड़ा करते है तो इसका असर आपके बच्चे पर जाता है आप शायद यह नहीं जानते है की यह रेत में अपना घर बना रहा था आपको नहीं पता है की आपका लड़का अंदर से दुखी है यह सब कुछ आपकी वजह से हो रहा है अगर आप उसके सामने कुछ भी कहते है तो उसका असर बच्चे पर भी जाता है भले ही आपको लगता है की आप झगड़ा कर रहे है but इसका असर हम उस लड़के में देख चुके है वह रेत में अपना घर बना रहा था

Monk stories in hindi | Hindi story

क्योकि उसे अब यह घर अच्छा नहीं लगता है यह झगड़े का घर बन चूका है जिसने अब कुछ नहीं है यह पर सिर्फ झगड़े होते है मुझे नहीं पता है की यह सब क्या हो रहा है मगर इसका असर बहुत गहरा होता जाता है आपको सोचना चाहिए अगर आप सही सोचते है तो सब कुछ अच्छा हो सकता है मुझे ऐसा लगता है की आप समझ गए है उसके बाद साधु चला जाता है कुछ बाते हमारे जीवन में समझने के लिए है अगर आपको यह रेत का घर साधू की हिंदी कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे  

Read More Hindi Story :-

किसान की मोरल कहानी 

दादी माँ की कहानी

बीरबल की कहानी

जंगल की कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *