Bandar aur bhediya ki kahani in hindi | बंदर और भेड़िये की कहानी

Bandar aur bhediya ki kahani in hindi

Bandar aur bhediya ki kahani in hindi, बंदर और भेड़िये की कहानी, बंदर ने देखा की आज उनके पास की जगह पर भेड़िया आया है यह देखकर बंदर को काफी डर भी लग रहा था क्योकि यह भेड़िया उनका भी शिकार कर सकता है इसलिए बंदर ने यह सोचा की मुझे अपने दोस्तों को यह बता बतानी होगी की एक bhediya यहां पर आ गया है जोकि हमारा शिकार भी कर सकता है यह सोचकर bandar उनके बताने जाता है but वह जा नहीं सकता था because bhediya उनसके सामने खड़ा था वह कहता है की bandar जी कहा जा रहे हो, बंदर कहता है की में तो कही नहीं जा रहा हु,

Bandar aur bhediya ki kahani in hindi : बंदर और भेड़िये की कहानी

Bandar aur bhediya ki kahani in hindi

Bandar aur bhediya ki kahani in hindi

but मुझे नहीं लगता है की यह जगह आपकी है आपको यहां पर नहीं होना चाहिए भेड़िया कहता है की अब यह bandar मुझे बताएगा की मुझे यह नहीं आना चाहिए, bhediya कहता है की इस बार हम यहां पर अकेले नहीं है bandar देखता है की यहां पर तो बहुत सारे bhediya आ गए है मुझे नहीं लगता है की में उन सभी से बच सकता हु bandar सभी को देखकर बहुत अधिक डर गया था वह बंदर पेड़ पर चल जाता है because उस जगह पर वही पेड़ है बाकी के पेड़ काफी दूर है

प्रिंसेस की कहानी 

bandar नहीं जानता था की भेड़िया की संख्या बहुत अधिक है वह bhediya कहते है की कब तक तुम इस पेड़ पर रह सकते हो कभी तो तुम इस पेड़ से नीचे आओगे तभी तुम्हारा शिकार हो सकता है वह bandar अब काफी डर गया था because भेड़िये उसके चारो और खड़े थे, अब कुछ नहीं हो सकता है सभी bhediya बंदर का इंतज़ार कर रहे थे जब वह नीचे आएगा तभी उसे पकड़ा जाएगा रात हो गयी थी बंदर पेड़ पर ही था उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था क्योकि भेड़िया नीचे ही बैठे थे     

मोटू पतलू की नयी कहानी

bandar अपने दोस्तों को भी यह बता बताना चाहता था but कुछ नहीं हो सकता था अब सभी भिडिये उसका इन्तज़ार कर रहे थे रात हो गयी थी कोई रास्ता समझ नहीं आ रहा था तभी bhediya कुछ आवाज सुनते है यह आवाज किसकी है वह समझ जाते है because यह आवाज शेर की थी सभी भेड़िये सोचते है की यहां पर शेर आ गया था अब क्या हो सकता है हमे यहां से जाना होगा but bandar को देख यह सोचते है की अगर हम यहां से गए तो यह भी शिकार हमारे हाथ से जा सकता है

जादुई घड़े की नयी कहानी

but शेर उनके पास आ रहा था जब उन्होंने देखा की शेर बहुत अधिक नजदीक आ गया है तो वह सभी bhediya भाग जाते है तभी bandar पेड़ से नीचे आता है और कहता है की आप यह पर आ गए है तभी वह भेड़िये यहां से चले गए है तभी शेर कहता है की आज मेने तुम्हारा इंतज़ार किया था तुम मेरे पास नहीं आये थे मेने सोचा की तुम तो आ नहीं रहे हो इसलिए मुझे ही चलना चाहिए because जब तक तुम मुझे कुछ बाटे नहीं सुनाते हो तब तक मेरा खाना हजम नहीं होता है

Bandar aur bhediya ki kahani in hindi

यह सुनकर bandar को हंसी आती है क्योकि वह शेर से हमेशा ही बातो में जीत जाता है भले ही वह शेर को कुछ नहीं कहता है मगर शेर जानता है की जब तक bandar नहीं होता है तब तक उसका मन नहीं लगता है इसलिए शेर ने पुरे दिन इंतज़ार करने के बाद यहां पर आने का फैसला किया था because शेर जानता है की बंदर इसी पेड़ पर रहता है उसके बाद बंदर शेर के साथ उसकी गुफा कि और जाता है, दोनों बाटे करते हुए चले जा रहे थे और वह bhediya समझ गए थे की वह बंदर शेर का दोस्त है अगर आपको यह bandar aur bhediya ki kahani in hindi पसंद आयी है तो जरूर शेयर करे   

Read More kids story :-

दो चिड़िया और गिलहरी की कहानी

बीरबल की कहानी

परियों की एक अनोखी कहानी

परी और जादूगर नयी कहानी

बंदर की जादुई कहानियां

चूहे और किसान की नयी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *